कीस मोड़ से सुरूं करें......फ्हिर से ये ज़िन्दगी.


उस मोड़ से सुरु करें , फ्हिर ये ज़िन्दगी
हर सह जहाँ हसीं थी , हम तुम थे अजनबी
शायद ये वक़्त हमसे कोई चाल चल गया
रिश्ता वफ़ा का और ही रंगों मैं ढल गया

Comments

Popular posts from this blog

BASE CAMP AT KASOL- HIMALAYAN TREKKING

Dhanush DIY for Ramayan Play for Children

What is Nothing? Niraakar Brahma(Sunya) (Jim Al-Khalili)